Big Bang Theory in Hindi

Big Bang Theory in Hindi : इस अध्याय में हम महाविस्फोट सिद्धान्त या बिग बैंग सिद्धान्त के अनुसार ब्रह्माण्ड ,आकाशगंगा ,सौरमंडल ,पृथ्वी एवं चन्द्रमा के उत्पत्ति के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे| 

इन सब के उत्पत्ति एवं विकास सम्बन्धी कई सिद्धांत दिए गए हैं  परन्तु आधुनिक समय में ब्रह्मांड की उत्पत्ति संबंधी सर्वमान्य सिद्धांत बिग बैंग सिद्धांत है | इसे विस्तारित ब्रह्माण्ड परिकल्पना भी कहा जाता है | इस सिद्धांत को स्वीकार करने के पीछे प्रमाणों का उपलब्ध होना है और इस विचार का कोई विरोधाभासी विचार भी प्रमाणित नहीं हो सका हैं | इस सिद्धांत के समर्थन में उपलब्ध प्रमाण :

  • लाल विचलन – इससे पता चलता है कि आकाशगंगाएँ एक दूसरे से दूर जा रही है अर्थात ब्रह्माण्ड का विस्तार हो रहा है | 
  • कॉस्मिक माइक्रोवेव बैकग्राउंड रेडिएशन (ब्रह्मांडीय माइक्रोवेव पृष्ठभूमि विकिरण )- इससे पता चलता है कि हमारा ब्रह्माण्ड की उम्र कितनी है क्योंकि यह विकिरण ब्रह्माण्ड की शुरुआत से है| 
  • गणितीय मॉडल – इससे हमें ब्रह्माण्ड का आकार जानने में मदद की है | हमारा ब्रह्माण्ड चपटा (फ्लैट) है |

बिग बैंग की घटना आज से 13.77 अरब वर्ष पहले हुआ था | शुरुआत में हमारा ब्रह्माण्ड अत्यधिक सूक्ष्म गोलक के आकार के था | इसका आयतन अत्यधिक सूक्ष्म एवं तापमान तथा घनत्व अनंत था | जब बिग बैंग की घटना घटी उसके 1 सेकण्ड  ,3 मिनट तथा 300000 साल बाद  इसमें क्या परिवर्तन आया | इसको हम क्रम से देखेंगे:

1  सेकण्ड 

  • तापमान 10  ख़रब सेल्सियस तक आ गया | 
  • ब्रह्माण्ड न्यूट्रॉन ,प्रोटॉन ,इलेक्ट्रान ,एंटी-इलेक्ट्रान(पॉज़िट्रान ) ,फ़ोटॉन ,और न्युट्रीनों से भर गया| 
  • आयतन काफी ज्यादा हो गया (सटीक जानकारी का अभाव है ) | 

 3  मिनट 

  • तापमान 1  अरब सेल्सियस तक आ गया | 
  • प्रोटॉन एवं न्यूट्रॉन की गति थोड़ी कम हो गयी (तापमान कम होने से ) और उसके बाद न्यूक्लियस(नाभिक ) बनने शुरू हो गए | 
  • न्यूट्रॉन के क्षय से प्रोटॉन और इलेक्ट्रान बना एवं संयोजन से ड्यूटोरियम (हाइड्रोजन आइसोटोप ) बना | नगण्य मात्रा में लिथियम भी बना | 

300000  साल

  • तापमान 3000  डिग्री सेल्सियस पर आ गया | 
  • इलेक्ट्रान नाभिक के साथ क्रिया कर के अणु (एटम ) बनाने लगा | 
  • इसी समय फ़ोटॉन (प्रकाश ) दिखाई देने लगा क्योंकि अंतरिक्ष पारदर्शी हो गया | इसी प्रकाश को हम कॉस्मिक माइक्रोवेव बैकग्राउंड रेडिएशन कहते हैं | 
  • अणु बनने के बाद आकाशगंगा ,तारें ,ग्रह आदि बनने शुरू हुए | 

अब हम पहले उत्पत्ति के क्रम को देखेंगे

  • लगभग 13  अरब वर्ष पहले – आकाशगंगा 
  • लगभग 5-6  अरब वर्ष पहले – तारा 
  • लगभग 4.6   अरब वर्ष पहले – ग्रह 
  • लगभग 4.4  अरब वर्ष पहले – चन्द्रमा 
  • लगभग 4   अरब वर्ष पहले – महासागर 
  • लगभग 3.8  अरब वर्ष पहले – जीवन का विकास 
  • लगभग 2.5-3  अरब वर्ष पहले – प्रकाश संश्लेषण

बिग बैंग सिद्धांत के अनुसार खगोलपिंडो का निर्माण निम्न तरीके से हुआ है :

  1. प्रारंभिक ब्रह्मांड में ऊर्जा व पदार्थ का वितरण सामान नहीं था | घनत्व में आरम्भिक भिन्नता से गुरुत्वाकर्षण बलों में भिन्नता आई ,जिसके परिणामस्वरूप पदार्थ का एकत्रण हुआ | यह एकत्रण आकाशगंगा के निर्माण का आधार बना | 
  2. एक आकाशगंगा के निर्माण की शुरुआत हाइड्रोजन गैस से बने विशाल  बादल के संचयन से होती है | हाइड्रोजन गैस से बने विशाल  बादल को हम नेब्युला या निहारिका कहते है | इसी निहारिका के अंदर गैस के  संचयन से  झुंड विकसित होने शुरू हो जाते है | क्रमशः ये झुंड बढ़ते बढ़ते घने गैसीय पिंड बन जाते है जिससे तारों का निर्माण आरम्भ  होता है | 
  3. कुछ  गुंथित गैस के झुंडों में गुरुत्वाकर्षण बल से क्रोड का निर्माण शुरू हो गया और बाकि इसी क्रोड के चारों  तरफ गैस और धूलकणों की घूमती हुई तश्तरी विकसित हुई |  इसके बाद इस  गैसीय बदल का संघनन शुरू हो गया और क्रोड के चारो तरफ पदार्थ छोटे-छोटे गोलों के रूप में विकसित होने लगे | उसके बाद ये छोटे गोले संसंजन प्रक्रिया या अणुओं में पारस्परिक आकर्षण द्वारा थोड़े बड़े आकार के हुए और बाद में यही ग्रह के रूप में विकसित हुए | सभी ग्रहों का निर्माण लगभग एक ही समय में हुआ| 
  4. चन्द्रमा को लेकर कई सिद्धांत मौजूद है | ऐसा विश्वास किया जाता है कि चन्द्रमा की उत्पत्ति एक बड़े टकराव का नतीजा है | इस सिद्धांत में कहा गया है कि पृथ्वी के बनने के बाद मंगल ग्रह से 2 से 3 गुना बड़ा पिंड पृथ्वी से टकराया था और इस टकराव में पृथ्वी का एक हिस्सा टूटकर अंतरिक्ष में बिखर गया और उसके बाद गुरुत्वाकर्षण के प्रभाव से ये एक पिंड का रूप ले लिये जिसको हम चन्द्रमा कहते है | 
  5. अब वायुमंडल ,जलमंडल और स्थलमंडल की चर्चा इन्ही अध्यायों में की जाएगी | 

What is Universe in Hindi

Big Bang Theory in Hindi

1 thought on “Big Bang Theory in Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published.