upsc prelims 2019 paper 1

upsc prelims 2019 paper 1 :आप लोग व्याख्या देखने से पहले एक बार प्रारंभिक परीक्षा 2011-19 में जाकर खुद से हल करके देखें |मैं केवल भूगोल तथा  पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी के सवालों का विश्लेषण प्रस्तुत कर रहा हूँ अर्थात इसका उत्तर विश्लेषणात्मक प्रकृति का है जिससे आप यह समझ सके कि किसी विषय में किन चीजों पर अधिक ध्यान दिया जाना चाहिए तथा परीक्षक आसान सवालों को कैसे मुश्किल बनाते हैं | उत्तर के साथ मैं थोड़ा विस्तार दे दिया है जिससे इस तरह के सवाल दोबारा मुश्किल पैदा न करे | 

महात्मा गांधी: मेरा जीवन ही मेरा संदेश है

1. निम्नलिखित में से कौन-सा नैशनल पार्क पूर्णतया शीतोष्ण अल्पाइन कटिबंध में स्थित है ?

(a)मानस नैशनल पार्क

(b)नामदफा नैशनल पार्क           

(c)नेओरा घाटी नैशनल पार्क

(d)फूलों की घाटी नैशनल पार्क

जवाब : (d)

विश्लेषण :

इस सवाल में परीक्षक दो तरह की जानकारी चाहता है | पहला ,क्या आपको शीतोष्ण अल्पाइन कटिबंध के बारे में पता है और दूसरा ,क्या आप ऊपर दिए गए राष्ट्रीय उद्यान के स्थान  से अवगत हैं|अगर  देखा जाये तो दोनों के बारे में जो जानकारी अपेक्षित है वो सामान्य है अर्थात आपको यह जानकारी मात्र  एनसीआरटी पढ़कर प्राप्त हो सकती है | इस सवाल को हल करने के लिए दोनों तरह की जानकारी का आना  आवश्यक है | लेकिन अगर आपको शीतोष्ण अल्पाइन कटिबंध का मतलब ही पता हो तो भी ये सवाल हल कर लेना चाहिए क्योंकि सही होने की संभावना अधिक है |

स्पष्टीकरण :

शीतोष्ण अल्पाइन कटिबंध : पृथ्वी को औसत वार्षिक तापमान के आधार पर तीन  कटिबंधों में बाँटा जाता है : उष्ण कटिबंध(अधिक सूर्यातप प्राप्त करने वाला क्षेत्र ) ,शीतोष्ण कटिबंध(मध्यम  सूर्यातप प्राप्त करने वाला क्षेत्र) एवं शीत कटिबंध(निम्न सूर्यातप प्राप्त करने वाला क्षेत्र) | इस सवाल में शीतोष्ण कटिबंध की बात की गई है | भारत उष्ण एवं शीतोष्ण कटिबंध(23.5 डिग्री उत्तरी अक्षांश के आगे का क्षेत्र) में स्थित है |सबसे मजेदार बात ये है कि चारों राष्ट्रीय उद्यान शीतोष्ण कटिबंध (बताए गए वर्गीकरण के अनुसार) में अवस्थित है अर्थात मानस नैशनल पार्क(असम ) ,नामदफा नैशनल पार्क(अरुणाचल प्रदेश ) ,नेओरा घाटी नैशनल पार्क(पश्चिम बंगाल ) एवं  फूलों की घाटी नैशनल पार्क(उत्तराखण्ड ) 23.5 डिग्री उत्तरी अक्षांश के आगे स्थित है | अब अगर हमे अल्पाइन, अल्पाइन वनस्पति , अल्पाइन जलवायु आदि के बारे में पता होगा तो ये सवाल हल हो जायेगा |

अल्पाइन नाम का तात्पर्य एक खास जलवायु और वनस्पति से है | इसे पर्वतीय वन का हिस्सा कह सकते है | ये ३५०० मीटर से अधिक की ऊचाई एवं विकट जलवायु में होता है | ये वृक्ष सीमा के बाद उगते है क्योंकि यहाँ वृक्ष के अनुकूल जलवायु नहीं पायी जाती है | अल्पाइन वनस्पति छोटे आकार के पौधे होते है | इसे कश्मीर में ‘मर्ग (केदार या चारागाह)’ तथा उत्तराखंड में बुगयाल नाम से जानते हैं |ये अल्पाइन घास के मैदान हिमालय क्षेत्र में 3,500 मीटर से अधिक ऊँचाई में पाए जाते हैं जिनमें विभिन्न प्रकार की झाड़ियाँ, फर्न, घास, रंग-बिरंगे पुष्प तथा सुगन्धित जड़ी-बूटियाँ इत्यादि पाई जाती है। मात्र अल्पाइन के ज्ञान से भी इस सवाल को हल किया जा सकता है  और इसके बारे में एनसीआरटी में दिया है |  

2. जून की 21वीं तारीख को सूर्य 

(a )उत्तर-ध्रुवीय वृत्त पर क्षितिज के नीचे नहीं डूबता है 

(b )दक्षिण ध्रुवीय वृत्त पर क्षितिज के नीचे नहीं डूबता है 

(c )मध्यान्ह में भूमध्यरेखा पर ऊर्ध्वाधर रूप से व्योमस्थ चमकता है 

(d )मकर रेखा पर ऊर्ध्वाधर रूप से व्योमस्थ चमकता है

उत्तर :(a )

विश्लेषण :

ये आसान सवाल है क्योंकि इसको एलिमिनेशन तरीके से जल्दी हल किया जा सकता है | लेकिन इस सवाल में दो तरह की चुनौती है | पहला।,भाषा के स्तर पर है अर्थात भाषा को समझना थोड़ा मुश्किल लग रहा है  ,दूसरा इस सवाल में रीजनिंग का भी अप्रत्यक्ष रूप से उपयोग है | इस सवाल के विकल्पों में दो शब्द सामान्य नहीं है : क्षितिज और व्योमस्थ | अगर आपको इन दो शब्दों की समझ है तो फिर ये सवाल बेहद आसान है | 

स्पष्टीकरण : 

इसको अगर एलिमिनेशन तरीके से हल करे तो आप देखेंगे कि b ,c और d विकल्प गलत प्रतीत होंगे क्योंकि अगर आपको ये पता है कि  दिए गए तारीख को सूर्य दोपहर में कर्क रेखा के ऊपर होता है तो मकर रेखा पर और भू-मध्य रेखा पर सीधा नहीं चमक सकता है अर्थात c  और d गलत है | b विकल्प भी a विकल्प की तरह बात कर रहा है जबकि हम जानते है सूर्य उत्तरी गोलार्ध में है | थोड़ा ध्यान देना होगा क्योंकि ‘नहीं’ शब्द a का b  कर सकता है | 

जून की 21वीं तारीख को सूर्य उत्तरी गोलार्ध में रहता है | अगर और सटीक कहे तो इस तारीख को सूर्य कर्क रेखा पर होता है | इसी समय पृथ्वी का उत्तरी हिस्सा अर्थात उत्तरी ध्रुव सूर्य की तरफ झुका होता है जिसके कारण उत्तरी ध्रुवीय वृत्त पर सूर्य क्षितिज के नीचे नहीं डूबता है अर्थात आप उत्तरी ध्रुवीय वृत्त पर या इससे ज्यादा अक्षांश पर आपको सूर्य 24 घंटे दिखता है |

क्षितिज : जब आप समुद्र के किनारे खड़े हो तो आप समुद्र का आख़िरी छोर देखने का प्रयास करें और आप देखेंगे की अंतिम छोर पर आसमान और समुद्र मिलते हुए प्रतीत होते है | जिस बिंदु पर मिलते हुए प्रतीत होते हैं उसी बिंदु से चारों ओर एक वृत्त बना लीजिये और इसी वृत्त को क्षितिज कहते है |  

3. निम्नलिखित युग्मो पर विचार कीजिए :

     प्रसिद्ध स्थान                                   : नदी 

(1 )पंढरपुर                                          : चंद्रभागा 

(2 )तिरुचिरापल्ली                                : कावेरी 

(3 )हंपी                                              : मालप्रभा 

उपर्युक्त में से कौन से युग्म सही सुमेलित है ?

(a )केवल 1 और 2 

(b )केवल 2 और 3 

(c )केवल 1 और 3 

(d )1 ,2 और 3 

उत्तर :(a )

विश्लेषण :

इस तरह के सवाल आसान और कठिन दोनों कहे जा सकते है | आसान इसलिए क्योंकि एक भी कथन गलत पता चल जाये तो सवाल हल हो जाता है  और कठिन इसलिए क्योंकि इस तरह के सवाल में एक या दो कथन काफी अलग आ जाते है | इस सवाल को देखकर ऐसा लगता है कि परीक्षक तीसरा युग्म जानना चाहता है क्योंकि हंपी का ऐतिहासिक महत्व है और हंपी से जुड़े सवाल पहले भी आ चुके है | इस तरह के सवाल में गलत पता लगाना ज्यादा सही होता है | 

स्पष्टीकरण : 

हंपी तुंगभद्रा नदी के किनारे स्थित है |हंपी को विश्व विरासत स्थल भी घोषित किया गया है| इतनी जानकारी से ये सवाल हल हो गया | दूसरा विकल्प सामान्य जानकारी है अर्थात तिरुचिरापल्ली  तमिलनाडु राज्य में कावेरी नदी के किनारे स्थित है | पंढरपुर महाराष्ट्र राज्य में चंद्रभागा नदी के किनारे स्थित है | यह एक तीर्थस्थान भी है |

upsc prelims 2019 paper 1

4. निम्नलिखित में से कौन-से अगस्त्यमाला जीवमंडल रिज़र्व में आते हैं ?

(a)नेय्यार,पेप्पारा और शेंदुर्ने वन्य प्राणी अभयारण्य ; और कलाकड़ मुंदनथुराई बाघ रिज़र्व 

(b )मुदुमलाई ,सत्यमंगलम और वायनाड वन्य प्राणी अभयारण्य ; और साइलेंट वैली नैशनल पार्क 

(c )कौंडिन्य ,गुंडला ब्रह्मेश्वरम और पापीकोंडा वन्य प्राणी अभयारण्य ; और मुकुर्थी नैशनल पार्क 

(d )कावल और श्रीवेंकटेश्वर वन्य प्राणी अभयारण्य ; और नागार्जुनसागर -श्रीशैलम बाघ रिज़र्व   

उत्तर :(a )

विश्लेषण :

यह सवाल तथ्यात्मक प्रकृति का है अर्थात आता है तो हल हो जायेगा | ये सवाल आने का कारण हाल ही में (2016  ) इसे यूनेस्को द्वारा विश्व के बायोस्फीयर रिज़र्व नेटवर्क में शामिल किया जाना है |  

5. निम्नलिखित कथनो पर विचार कीजिये :

  1. समुद्री कच्छपों की कुछ जातियाँ शाकभक्षी होती है | 
  2. मछली की कुछ जातियाँ शाकभक्षी होती है | 
  3. समुद्री स्तनपायियों की कुछ जातियाँ शाकभक्षी होती है | 
  4. साँपो की कुछ जातियाँ सजीवप्रजक  होती है | 

उपर्युक्त में से कौन से कथन सही है ?

(a )केवल 1 और 3  

(b )केवल 2, 3 और 4 

(c )केवल 2  और 4 

(d )1 ,2, 3 और 4 

उत्तर :(d )

विश्लेषण :

इस सवाल के हर कथन में संभावना व्यक्त की जा रही है अर्थात परीक्षक इस बात में पक्का है कि “कुछ” तो दिए गए कथन के अनुसार सही है | ये सवाल साधारण रीजनिंग पर आधारित है | ऐसे बहुत कम लोग होंगे जो चारों  कथन के बारे में जानते होंगे | दूसरे कथन के बारे में तो सवाल आ चुका है | ऐसे सवालों में ज्यादातर बार सभी कथन सही होते है | ऐसे सवाल अगर दूसरे विषयों में आये जैसे भारतीय राज व्यवस्था आदि में तो गलत होने की संभावना अधिक होती है क्योंकि अगर  राष्ट्रपति के पास कोई काम करने की शक्ति है या नहीं है लेकिन संभावनाओं के लिए जगह बहुत कम होती है | वही दूसरी तरफ पर्यावरण , विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी आदि में संभावना के लिए काफी जगह होती है क्योंकि इसमें लगातार प्रगति होती रहती है | 

स्पष्टीकरण : 

स्थलकच्छप शाकाहारी होते हैं और जलकच्छपों में अधिक संख्या उन्हीं की है जो माँस, मछलियों और घोंघे कटुओं से अपना पेट भरते हैं।स्रोत:https://hindi.indiawaterportal.org/node/32902

मांसाहारी मछलियों का मुँह लंबा तथा हनु (jaw) लंबे एवं तीक्ष्ण दाँतों से युक्त होते हैं। शाकाहारी मछलियों का मुँह छोटा तथा हनु कुतरनेवाले दाँतों से युक्त होते हैं।स्रोत:https://hindi.indiawaterportal.org/node/34555

6.निम्नलिखित युग्मो पर विचार कीजिए :

            वन्य प्राणी                                : प्राकृतिक रूप से कहाँ पाए जाते है 

  1. नीले मीनपक्ष वाली महाशीर            : कावेरी नदी 
  2. इरावदी डॉल्फिन                           : चम्बल नदी 
  3. मोरचाभ (रस्टी )-चित्तीदार बिल्ली  : पूर्वी घाट 

उपर्युक्त में से कौन से युग्म सही सुमेलित है ?

(a )केवल 1 और 2 

(b )केवल 2 और 3 

(c )केवल 1 और 3 

(d )1 ,2 और 3 

उत्तर :(c )

विश्लेषण :

 ऐसा लगता है कि इस सवाल में परीक्षक डॉल्फिन के बारे में जानना चाहता है | ऐसा मुझे दो कारणों से लगता है :पहला ,इससे जुड़ा सवाल पहले भी(2017 या 2018 में ) आ चुका है तथा इसकी एक प्रजाति भारत का राष्ट्रीय जलीय जीव घोषित किया गया है  और दूसरा ,ये 2018 के समाचार-पत्रों  में भी था|डॉलफिन 1972  के भारतीय वन्य जीव संरक्षण कानून और IUCN के लिस्ट में भी अधिसूचित है | विकल्प देखकर भी ऐसा लगता है कि गलत युग्म मिलने से सवाल हल हो जायेगा|ऐसे सवाल एलिमिनेशन से हल करना आसान हो जाता है |

स्पष्टीकरण : 

पूरे विश्व में डॉलफिन की 40 प्रजातियाँ पायी जाती है जिसमे से मात्र चार प्रजातियाँ ही नदियों के  पानी में रह सकती है | इसमें से दो दक्षिण एशिया में(गंगा डॉलफिन और सिंधु डॉलफिन) पाया जाता है ,एक चीन में और एक दक्षिण अमेरिका के नदी में पाया जाता है |  इरावदी डॉल्फिन भारत में चिल्का झील के पास 1980-90 के समय आसानी से देखा जा सकता था | उसके बाद वहाँ मानवीय गतिविधियों के बढ़ने से उनके लिए दशाएं अनुकूल नहीं है | हाल ही में वहाँ 2-4 इरावदी डॉल्फिन देखी गयी है जिससे ये संकेत मिल रहा है कि वह की स्थिति इनके अनुकूल हो रही है | इरावदी डॉल्फिन मीठे और खारे पानी दोनों में रह सकता है | भारत का एकमात्र डॉलफिन है जो खारे पानी में भी रह सकता है | इरावदी डॉल्फिन मुखयतः दक्षिण और दक्षिण -पूर्व एशिया में ही पाया जाता है | IUCN के अनुसार इसकी स्थिति एशिया और दक्षिण-पूर्वी एशिया के तटीय इलाकों है|  यह तीन नदियों में मिलती हैं यथा म्यांमार की मेकांग, इरावाडी और इंडोनेशिया की महाकाम नदी | नक्शे में इसका क्षेत्र  देख सकते है : (चित्र स्रोत : IUCN )

इरावदी डॉल्फिन
इरावदी डॉल्फिन  


मोरचाभ (रस्टी )-चित्तीदार बिल्ली लगभग पूरे भारत में पायी जाती है और कुछ श्रीलंका तथा नेपाल के तराई क्षेत्र में पाई जाती है | ऐसी बिल्ली हम लोग अपने घरों में देखे होंगे |नीले मीनपक्ष वाली महाशीर भी लगभग पूरे भारत मुख्यतः नर्मदा नदी में पायी जाती है भारत ,मलेशिया , इंडोनेशिया आदि जगहों पर पायी जाती है | इस मछली को मध्यप्रदेश में राज्य मछली का दर्जा दिया गया है | इस मछली को लेकर यह कुछ मान्यताएँ है | इसका नदियों में पाया जाना नदियों के साफ होने का परिचायक भी माना  जा सकता है |    

7. पर्यावरण में निर्मुक्त हो जाने वाली ‘सूक्ष्मणिकाओं (मइक्रोबीड्स )’ के विषय में अत्यधिक चिंता क्यों है ?

(a )ये समुद्री पारितंत्रों के लिए हानिकारक मानी  जाती है | 

(b )ये बच्चों में त्वचा कैंसर होने का कारण  मानी जाती हैं | 

(c)ये इतनी छोटी होती हैं कि सिंचित क्षेत्रों में फसल पादपों द्वारा अवशोषित हो जाती है| 

(d )अक्सर इनका इस्तेमाल खाद्य-पदार्थों में मिलावट के लिए किया जाता है |

उत्तर :(a )

विश्लेषण :

‘सूक्ष्मणिकाओं (मइक्रोबीड्स )’ इस शब्द को बिना इंग्लिश वाले जाने समझना मुश्किल है |  इस सवाल में दो तरह की चुनौतियाँ है पहला , आपको शब्द समझ में आ जाये दूसरा ,इसका प्रभाव पता हो | इसके बाद सवाल हल हो जायेगा | मुझे ऐसा लगता है कि शब्द समझना ज्यादा मुश्किल है अगर सुना नहीं है | अगर सुना है तो सवाल हल हो जायेगा | वैसे ये सवाल समसामयिक घटनाक्रम से प्रेरित है |माइक्रोबीड्स के उपयोग पर 2015 से  अमेरिका में प्रतिबंध लगा है। इग्लैंड ने 2018  में प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है और प्रारंभिक परीक्षा 2019 में आ गया |ऐसे शब्दों को इंग्लिश(देवनागरी के रूप में जैसे मइक्रोबीड्स ) में ही समझना चाहिए | अगर ये शब्द पता है तो आप स्वयं समझ जायेंगे कि बचे हुए तीन विकल्प तार्किक नहीं लग रहे है | 

स्पष्टीकरण : 

माइक्रोबीड्स प्लास्टिक के सूक्ष्मतम कण होते  है। इसका सबसे बड़ा आकार एक मिलीमीटर का होता है। इसे पॉलिथीन, पॉलीप्रॉपलीन, पॉलीस्टिरीन से बनाया जाता है जिससे प्लास्टिक बनाया जाता है। यह किसी भी चीज में न तो घुलता है और न ही खत्म होता है। इसको कॉस्मेटिक्स में उपयोग किया जाता है जैसे टूथपेस्ट ,फेसवाश ,स्क्रब आदि | ये माइक्रोबीड्स सबसे ज्यादा समुद्री जीवन को प्रभावित करती है |समुद्री जीव से मनुष्यों तक आ जाती है |2018 में अनुमान लगाया था कि लगभग 5 खरब से ज्यादा माइक्रोबीड्स प्लास्टिक के सूक्ष्मतम कण समुद्री जीवन को प्रभावित कर रहे है |

8.निम्नलिखित में से कौन-सा एक पादप समूह ‘नवीन विश्व (न्यू वर्ड)’ में कृषि-योग्य बनाया गया तथा इसका प्राचीन विश्व में प्रचलन शुरू किया गया?

(a)तंबाकू, कोको और रबड़

(b)तंबाकू, कपास और रबड़

(c)कपास, काँफी और गन्ना

(d)रबड़, काँफी और गेहूं

उत्तर :(a )

विश्लेषण :

ये सवाल इतिहास से जुड़ा हुआ ज्यादा प्रतीत होता है परन्तु मैंने ये सवाल क्विज़ में दे दिया है इसलिए इसकी व्याख्या यहाँ कर दे रहा हूँ| ये सवाल तथ्यात्मक है अर्थात पता है तो बन जायेगा |

स्पष्टीकरण : 

मुझे नहीं पता कि ये सवाल कितने लोग समझ रहे है इसलिए थोड़ा सा बता दूँगा| इस सवाल में दो ऐतिहासिक शब्द उपयोग किया है पहला प्राचीन विश्व और दूसरा नवीन विश्व | जब तक अमेरिकी महाद्वीप की जानकारी नहीं थी तब तक लोग एशिया ,अफ्रीका और यूरोप को ही विश्व समझते थे लेकिन अमेरिका को जानने के बाद पहले दुनिया को प्राचीन और अमेरिका को नवीन विश्व की संज्ञा दी जाती है | जो फसल ,पशु आदि केवल नवीन विश्व में पाया जाता था उसे नवीन विश्व के साथ संलग्न कर दिया गया और इस तरह प्राचीन विश्व में जो फसल ,पशु आदि पाया जाता था उसे इसके साथ संलग्न कर दिया गया है |1490 के बाद जब अमेरिकी महाद्वीप प्राचीन विश्व संपर्क में आया उसके बाद आदान-प्रदान का चलन शुरू हो गया | पुरानी दुनिया की फ़सलों में गेहूँ, राई, दाल और जौ शामिल हैं। पुरानी दुनिया के जानवरों में भेड़, सूअर, मुर्गियांँ , बकरी, घोड़े और मवेशी शामिल हैं।नई दुनिया की प्रसिद्ध फसलों में रबर, तंबाकू, सूरजमुखी,टमाटर ,आलू ,मिर्च ,कोको और काजू शामिल हैं। 

9. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:

1.एशियाई शेर प्राकृतिक रूप से सिर्फ भारत में पाया जाता है।

2.दो-कूबड़ वाला ऊँट प्राकृतिक रूप से सिर्फ भारत में पाया जाता है।

3.एक-सींग वाला गैंडा प्राकृतिक रूप से सिर्फ भारत में पाया जाता है।

उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

(a)केवल 1

(b)केवल 2

(c)केवल 1 और 3

(d)1,2 और 3

उत्तर :(a )

विश्लेषण :

ये सवाल समसामयिक घटनाक्रम पर आधारित है |एशियाई शेर से जुडी जानकारी 20 DEC 2018 को पीआईबी पर पोस्ट की गयी थी | 2018 में केन्‍द्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय ने एशियाई शेरों की दुनिया की आखिरी मुक्त‍ विचरण करने वाली आबादी की सुरक्षा और संरक्षण के उद्देश्य से एशियाई शेर संरक्षण परियोजना की शुरूआत की थी। इसमें परीक्षक तीनों कथन के बारे में आपकी जागरूकता की जाँच कर रहा है | एक-सींग वाला गैंडा ,जिसकी संख्या काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में और क्षेत्रों की अपेक्षा अधिक है , की जानकारी अलग तरीके से पूछ लिया है क्योंकि सवाल अपेक्षित क्षेत्र से ही है |दो-कूबड़ वाला ऊँट के बारे में पता होने से आप दो विकल्प आसानी से काट सकते है और ये जानकारी सामान्य है |

स्पष्टीकरण : 

एशियाई शेर ईरान से पूर्वी भारत के पलामू तक पाये जाते थे। अंधाधुंध शिकार और इनके आवास कम होने के कारण ये लगभग विलुप्त‍ हो गये थे। 1990 दशक के अंत में गुजरात के गिर वनों में 50 से भी कम शेरों की जनसंख्‍या रह गई थी। राज्‍य सरकार और केन्‍द्र सरकार के द्वारा समय रहते कड़ी सुरक्षा प्रदान किए जाने के कारण एशियाई शेरों की वर्तमान जनसंख्‍या बढ़कर 500 से अधिक हो गई है। वर्ष 2015 में की गई शेरों की जनगणना से पता चला है कि 1648.79 वर्ग किलोमीटर के गिर संर‍क्षित क्षेत्र नेटवर्क में एशियाई शेरों की जनसंख्‍या 523 थी। इस पूरे नेटवर्क क्षेत्र में गिर राष्‍ट्रीय पार्क, गिर अभ्‍यारण्‍य, पानिया अभ्‍यारण्‍य, मितियाला अभ्‍यारण्‍य के आसपास का आरक्षित वन, संरक्षित वन और अवर्गीकृत वन शामिल हैं।इस समय ये सिर्फ यही पाए जाते है | बैक्टीरियन ऊंट केवल नुब्रा घाटी और लद्दाख के क्षेत्रों की ऊंचाई पर पाए जाते हैं। इस ऊंट पर दो कूबड़ होते हैं, जो देखने में बहुत ही अनोखा लगता हैं।  लद्दाख में जंगली बैक्टीरियन ऊंट की बहुत छोटी आबादी मौजूद है।ये ज्यादातर अरब देशों में पाए जाते हैं |एक-सींग वाला गैंडा गंगा और ब्रह्मपुत्र के मैदानी इलाके में पाए जाते थे लेकिन मानवीय गतिविधियाँ बढ़ने से ये मुख्यतः नेपाल का तराई वाला क्षेत्र ,भूटान और भारत के  असम और पश्चिम बंगाल में है | 

10. निम्नलिखित में से किसके संदर्भ में कुछ वैज्ञानिक पक्षाभ मेघ विरलन तकनीक तथा समतापमंडल में सल्फेट वायुविलय अंतःक्षेपण के उपयोग का सुझाव देते हैं?

(a)कुछ क्षेत्रों में कृत्रिम वर्षा करवाने के लिए

(b)उष्णकटिबंधीय चक्रवातों.की बारम्बारता और तीव्रता को कम करने के लिए

(c)पृथ्वी पर सौर पवनों के प्रतिकूल प्रभाव को कम करने के लिए

(d)भूमंडलीय तापन को कम करने के लिए

उत्तर :(d)

विश्लेषण :

ये प्रश्न समसामयिक घटनाक्रम से प्रेरित है | भूमंडलीय तापन से जुड़े सवाल हर साल ही किसी न किसी रूप में आ रहा है | ये बहुत जरूरी है कि प्रासंगिक मुद्दों  के प्रगति पर लगातार ध्यान देते रहिये | इस मुद्दे पर लम्बे समय से प्रयास और बहस चल रही है |ये सवाल इसी मुद्दे पर बहस का एक हिस्सा है |इस पर बहस 2-3 सालों से चल रही है | 

स्पष्टीकरण : 

इस सवाल में दो तरीकों का उल्लेख है जिससे भूमंडलीय तापन को कम समय में कम किया जा सके |पक्षाभ मेघ विरलन तकनीक एक संभावित तरीका हो सकता है जिससे हरित गृह प्रभाव को कम किया जा सके | पक्षाभ मेघ लगभग 5 -10 किलोमीटर ऊपर बनता है और बर्फ के छोटे -छोटे टुकड़े है जिनकी मोटाई काफी होती है | जैसाकि हम जानते है कि इस तरह बादल में हरित गृह प्रभाव उत्पन्न होते है |ये सौर विकिरण को  गुजरने देते हैं, लेकिन पृथ्वी से उत्सर्जित उच्च तरंग दैर्ध्य अवरक्त विकिरण के लिए अवरोधक का काम करते हैं, जिससे वातावरण के तापमान में वृद्धि होता है।अगर हम किसी तरीके से इस मेघ की मोटाई को कम कर सके तो कम समय में हरित गृह प्रभाव कम हो सकता है |दूसरा तरीका है समतापमंडल में सल्फेट वायुविलय अंतःक्षेपण के उपयोग से हम समतापमंडल से ही सूर्य के किरण को अंतरिक्ष में परावर्तित कर सकते हैं |अगर ऐसा हो जाता है तो हमारा ग्रह पृथ्वी काम सूर्यातप प्राप्त करेगा जिससे तापमान वृद्धि दर कुछ कम हो जायेगा |परिणामस्वरूप हम भूमंडलीय तापन को रोक सकेंगे |

upsc prelims 2019 paper 1

11.  निम्नलिखित में से किसके संदर्भ में, ‘ताप-अपघटन और प्लाज्मा गैसीकरण’ शब्दों का उल्लेख किया गया है?

(a)दुर्लभ(रेअर) भू-तत्वों का निष्कर्षण

(b)प्राकृतिक गैस निष्कर्षण प्रौद्योगिकी

(c)हाइड्रोजन ईंधन-आधारित आँटोमोबाइल

(d)अपशिष्ट-से-ऊर्जा प्रौद्योगिकी

उत्तर :(d)

विश्लेषण :

ये प्रश्न सीधा परिभाषा पर आधारित है |ये प्रश्न समसामयिक घटनाक्रम से भी  प्रेरित है | द हिन्दू में कई बार आर्टिकल आया है खासकर शीत ऋतु में ज्यादा आता है |

स्पष्टीकरण : 

यह ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में जैविक पदार्थों को ऊँचे तापमान पर रासायनिक रूप से विघटित करने की एक प्रक्रिया है जिसे ताप-अपघटन और प्लाज्मा गैसीकरण कहते है |इस  प्रक्रिया का उपयोग कई तरह के काम में होता है | ऊपर दिए गए विकल्प के अनुसार इस प्रक्रिया का उपयोग अपशिष्ट-से-ऊर्जा बनाने में किया जाता है | विकल्प को देखकर भी आसानी से अनुमान लगाया जा सकता है लेकिन इस तरह के शब्दों से परिचित होना चाहिए क्योंकि इस तरह के प्रश्न आसान श्रेणी में आते है |

12.हाल ही में वैज्ञानिकों ने पृथ्वी से  अरबों प्रकाश-वर्ष दूर विशालकाय ‘ब्लैकहोलों’ के विलय का प्रेक्षण किया | इस प्रेक्षण का क्या महत्व है ?

(a)’ ‘हिग्स बोसॉन कणों’ का अभिज्ञान हुआ | 

(b)’ ‘गुरुत्वीय तरंगों’ का अभिज्ञान हुआ | 

(c)‘वार्महोल’ से होते हुए अंतरा -मन्दाकिनीय अंतरिक्ष यात्रा की संभावना की पुष्टि हुई| 

(d)इसने वैज्ञानिकों को ‘विलक्षणता (सिंगुलैरिटी )’ को समझना सुकर बनाया |

उत्तर :(b)

विश्लेषण :

ये प्रश्न मात्र आपकी जागरूकता का परीक्षण करना चाहता है क्योंकि भौतिकी के क्षेत्र में वैज्ञानिकों को बहुत बड़ी उपलब्धि मिली थी | मैंने जागरूकता शब्द का उपयोग इसलिए किया है क्योंकि इस घटनाक्रम में से पहले चरण का सवाल पूछा गया है | इस प्रश्न को देखकर ऐसा लगता है कि आपको  विज्ञान के क्षेत्र में हो रही प्रगति से अनभिज्ञ नहीं रहना चाहिए | कुछ क्षेत्रों पर तो खास ध्यान देना चाहिए जैसे : भूमंडलीय तापन ,ब्लैक होल ,प्रदूषण ,जीन तकनीक आदि | इन सबसे प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप में  पूरे मानव-जाति की भलाई जुड़ी है |

स्पष्टीकरण : 

अभी तक मात्र अनुमान था कि गुरुत्वीय तरंगें होती है और इसके बारे में सर्वप्रथम आइंस्टीन ने 1915 अपनी सापेक्षता के सिद्धांत में अनुमान लगाया था | इसके बाद 1973-74 में कुछ वैज्ञानिकों ने इसके बारे में सैद्धांतिक प्रमाण दिया लेकिन अब वैज्ञानिकों ने इसको प्रायोगिक उपकरण द्वारा इसकी वास्तविकता का पता लगा लिया है   | ये महत्वपूर्ण उपलब्धि वैज्ञानिकों ने 100 साल बाद अर्थात सितम्बर 2015 में हासिल कर ली है | 1.3 बिलियन साल से भी पहले दो ब्लैक होल गुरुत्वाकर्षण बल के कारण एक दूसरे की परिक्रमा कर रहे थे परन्तु इस क्रम में उनके ऊर्जा का ह्रास अर्थात गुरुत्वीय तरंगों में परिवर्तन भी हो रहा था जिसके कारण वे एक दूसरे के करीब आते जा रहे थे और आज से लगभग 1.3 बिलियन साल  पहले ये एक दूसरे में समा गए जिसके कारण बहुत बड़ी मात्रा में गुरुत्वीय तरंग चारों दिशा में प्रकाश की गति से चलने लगी | ये तरंग पृथ्वी पर 14 सितम्बर 2015 को पहुँचा जिसको हमारे लेजर इंटरफेरोमीटर ग्रेविटेशनल-वेव ऑब्जर्वेटरी (LIGO) डिटेक्टर ने पहचान की |यह एक बहुत बड़ी उपलब्धि है क्योंकि अभी तक वैज्ञानिक केवल दिख रही चीजों का पता लगा सकते थे | इससे हमे ब्रह्माण्ड को और अच्छे से समझने में मदद मिलेगी |

upsc prelims 2019 paper 1

13. भारत में पिछले पाँच वर्षो में खरीफ के फसलों की खेती के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:

  1. धन की खेती के अंतर्गत क्षेत्र अधिकतम है | 
  2. ज्वार की खेती के अंतर्गत क्षेत्र ,तिलहनों की खेती के अंतर्गत क्षेत्र की तुलना में अधिक हैं | 
  3. कपास की खेती का क्षेत्र ,गन्ने की खेती के क्षेत्र की तुलना में अधिक है | 
  4. गन्ने की खेती के अंतर्गत क्षेत्र निरंतर घटा है | 

उपर्युक्त में से कौन से कथन सही है ?

(a )केवल 1 और 3  

(b )केवल 2, 3 और 4 

(c )केवल 2  और 4 

(d )1 ,2, 3 और 4

उत्तर :(a )

विश्लेषण :

इस तरह के सवाल का जवाब  आर्थिक सर्वेक्षण एवं कृषि मंत्रालय की वार्षिक रिपोर्ट में में मिल जायेगा | इस सवाल के विकल्प को ध्यान से निरीक्षण करें तो पाएंगे कि पहला और चौथा विकल्प के बारे में सामान्यतः जानकारी होती है | इस तरह के सवाल देखकर आप अपने पढाई का तरीका और बेहतर कर सकते है खासकर रिपोर्ट ,भारत वार्षिक ,आर्थिक सर्वेक्षण आदि |  खरीफ फसलों की खेती बरसात के मौसम में होती है खरीफ फसल की  जून-जुलाई में बुआई और सितम्बर -अक्टूबर में कटाई की जाती है | इसमें  चावल, ज्वार, बाजरा,रागी मक्का, जूट, मूंगफली,कपास, खीरा, तम्बाकू आदि आते है |

14. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए :

  1. कृषि मृदाएँ पर्यावरण में नाइट्रोजन के ऑक्साइड निर्मुक्त करती हैं।
  2. मवेशी पर्यावरण में अमोनिया निर्मुक्त करते हैं।
  3. कुक्कुट उद्योग पर्यावरण में अभिक्रियाशील नाइट्रोजन यौगिक निर्मुक्त करते हैं।

उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

(a) केवल 1 और 3

(b) केवल 2 और 3

(c) केवल 2

(d) 1, 2 और 3

उत्तर :(d)

विश्लेषण :

ये सवाल सैद्धांतिक है पर्यावरण की किताबों पढ़ा जाता है | विकल्प 1 की बात करे तो ये नाइट्रोजन चक्र से जुड़ा कथन है | विकल्प 2 और 3 की बात करें तो लगभग दोनों एक ही तरीके से नाइट्रोजन निर्मुक्त करती है अर्थात इनके मल और पेशाब में मौजूद नाइट्रोजन के यौगिक और इनको अमोनिया में परिवर्तित करने वाले जीवाणु के माध्यम से वातावरण में पहुँचता है | इनके कुछ और प्रक्रियाओं से भी पर्यावरण में अमोनिया निर्मुक्त होता है |  

15.  अलियार, इसापुर और कंग्साबती जैसे ज्ञात स्थानों में क्या समानता है?

(a) हाल ही में खोजे गए यूरेनियम निक्षेप

(b) उष्णकटिबंधीय वर्षा वन

(c) भूमिगत गुफा तंत्र

(d) जल भंडार

उत्तर :(d)

विश्लेषण :

ये सवाल समसामयिक घटनाक्रम पर आधारित है |2017-18 में कई रिपोर्ट आयी थी और अभी भी कोई न कोई रिपोर्ट आ ही रही है जो इस बात पर प्रकाश डालना चाह रही है कि आने वाले समय में पीने के लिए पानी की काफी ज्यादा दिक्कत | ये सवाल भी संदर्भ में है |केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट आयी थी कि जो जलाशय हम सिंचाई ,विद्दुत और पेयजल की सुविधा के लिए बनाए हैं उनमें भी जल-स्तर कम होने लगा है |ये बात इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि ये जलाशय हजारों एकड़ वन और कई बस्तियों को विस्थापित कर के बनाया गया था | मतलब जिस समस्या के निदान के लिए हमने इतना कुछ किया परन्तु समस्या ज्यों का त्यों बना है अर्थात क्या हमारी योजना सही थी ? आप लोग इस तरह के सवाल फिर से उम्मीद कर सकते है (अर्थात पानी से जुड़ा मुद्दा )  

स्पष्टीकरण :

इस सवाल में जिन जगहों का संदर्भ है वो सब बड़े जलाशय है और उन सब मे जल-स्तर कम हो गया है | ये बात केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट से पता चलता है | देश के 76 विशाल जलाशय में से लगभग 31 जलाशय या इससे ज्यादा अपने निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने में सक्षम नहीं है |इनमें उत्तर प्रदेश का रिहन्द ,मध्य प्रदेश का गाँधी सागर , महाराष्ट्र का कोयना , ईसापुर , पश्चिम बंगाल के मयूराक्षी व कांग्साबती आदि जलाशय शामिल है |अलियार बाँध भी एक जलाशय है जोकि तमिलनाडु में पड़ता है | यह एक नदी घाटी परियोजना का हिस्सा है जो केरल और तमिलनाडु के मध्य है | 

upsc prelims 2019 paper 1

2 thoughts on “upsc prelims 2019 paper 1”

  1. बहुत ही अच्छे से विश्लेषण किया आपने, बहुत बहुत धन्यवाद सर।

Leave a Reply

Your email address will not be published.