इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस इन हिंदी -International Court of justice

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस इन हिंदी -International Court of justice

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस इन हिंदी

  • अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (International Court of justice) की स्थापना 1945 में संयुक्त राष्ट्र के चार्टर द्वारा की गई।
    • संयुक्त राष्ट्र चार्टर के अनुच्छेद 33 में राष्ट्रों के बीच विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के लिये विधियों की सूची है।
      • इनमें से कुछ विधियों में तीसरा पक्ष भी शामिल है।
  • यह संयुक्त राष्ट्र का प्रमुख न्यायिक अंग है जो हेग (नीदरलैंड्स) में स्थित है।
  • संयुक्त राष्ट्र के छह प्रमुख संस्थानों में यह एकमात्र संस्थान है जो न्यूयॉर्क में स्थित नहीं है।
  • यह राष्ट्रों के बीच कानूनी विवादों को सुलझाता है |
    • अधिकृत संयुक्त राष्ट्र के अंगों तथा विशेष एजेंसियों द्वारा निर्दिष्ट कानूनी प्रश्नों पर अंतर्राष्ट्रीय कानून के अनुसार सलाह देता है।
  • इसमें 193 देश शामिल हैं |
    • इसके वर्तमान अध्यक्ष अब्दुलकावी अहमद यूसुफ (सोमालिया)हैं।

पृष्ठभूमि

  • वर्ष 1943 में चीन, सोवियत संघ, ब्रिटेन और अमेरिका ने एक संयुक्त घोषणा-पत्र जारी किया |
    • जिसमें कहा गया कि सभी शांतिप्रिय राष्ट्रों की संप्रभुता, समानता के आधार पर एक सामान्य अंतर्राष्ट्रीय संगठन की स्थापना किये जाने की आवश्यकता है।
    • यह संगठन अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा को बनाए रखने के लिये बड़े और छोटे सभी राष्ट्रों के लिये खुला होगा।
  • इसके बाद वर्ष 1945 में जी.एच. हैकवर्थ समिति (USA) को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय की स्थापना के लिये कानून बनाने हेतु मसौदा बनाने का कार्य सौंपा गया।
  • सैन फ्रांसिस्को सम्मेलन ने समिति की सिफारिशों को ध्यान में रखते हुए नए न्यायालय की स्थापना के पक्ष में निर्णय लिया |
    • यह महासभा, सुरक्षा परिषद, आर्थिक और सामाजिक परिषद, न्यास परिषद तथा सचिवालय की तरह संयुक्त राष्ट्र का एक प्रमुख अंग होगा।

संरचना

  • अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में 15 न्यायाधीश होते हैं जिन्हें संयुक्त राष्ट्र महासभा और सुरक्षा परिषद द्वारा नौ वर्ष के के लिये चुना जाता है।
    • ये दोनों निकाय एक समय पर लेकिन अलग-अलग मतदान करते हैं।
  • निर्वाचित होने के लिये किसी उम्मीदवार को दोनों निकायों में पूर्ण बहुमत प्राप्त होना चाहिये।
  • अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में निरंतरता सुनिश्चित करने के लिये न्यायालय की कुल संख्या के एक-तिहाई सदस्य हर तीन साल में चुने जाते हैं |
    • ये न्यायाधीश पुन: चुनाव के पात्र होते हैं।
  • अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय को एक रजिस्ट्री द्वारा सहायता दी जाती है, रजिस्ट्री अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय का स्थायी प्रशासनिक सचिवालय है।
    • अंग्रेज़ी और फ्रेंच इसकी आधिकारिक भाषाएँ हैं।

NOTE :इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस इन हिंदी

  • अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के अन्य निकायों के विपरीत अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में सरकार के प्रतिनिधि नहीं होते।
  • न्यायालय के सदस्य स्वतंत्र न्यायाधीश होते हैं |
    • इन्हें दायित्व ग्रहण करने से पूर्व शपथ लेनी होती है कि वे अपनी शक्तियों का निष्पक्षता और शुद्ध अंतःकरण से उपयोग करेंगे।
  • न्यायालय के किसी भी सदस्य को तब तक बर्खास्त नहीं किया जा सकता, जब तक कि अन्य सदस्यों की एकमत न हो |
    • अभी तक किसी भी न्यायाधीश को पद से बर्खास्त नहीं किया गया है।

अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के 15 न्यायाधीश

  1. अफ्रीका से 3
  2. लैटिन अमेरिका और कैरेबियन देशों से 2
  3. एशिया से 3
  4. पश्चिमी यूरोप और अन्य राज्यों से 5
  5. पूर्वी यूरोप से 2

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस इन हिंदी में भारतीय न्यायाधीश

इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस इन हिंदी
दलवीर भंडारी:International Court of Justice
  • दलवीर भंडारी: 27 अप्रैल 2012 से कोर्ट के सदस्य, 6 फरवरी 2018 को फिर से चुने गए
  • रघुनंदन स्वरूप पाठक: 1989-1991
  • नागेंद्र सिंह: 1973-1988
  • सर बेनेगल राव: 1952-1953

वर्तमान (21 जुलाई, 2020) में ICJ का स्वरूप

न्यायाधीश का नामदेश
अब्दुलकावी अहमद यूसुफ (अध्यक्ष)सोमालिया
पीटर टॉमकास्लोवाकिया
शू हानकिन, (उपाध्यक्ष)चीन
रॉनी अब्राहमफ्राँस
दलवीर भंडारीभारत
एंटोनियो ऑगस्टो ट्रिनडाडेब्राज़ील
जेम्ल रिचर्ड क्रॉफोर्डऑस्ट्रेलिया
मोहम्मद बेनौनामोरक्को
जोआन ई. डोनोह्यूअमेरिका
जॉर्जिओ गजाइटली
पैट्रिक लिप्टन रॉबिंसनजमैका
जूलिया सेबुटिंडेयुगांडा
किरिल गेवोर्जिअनरूसी संघ
तस्सदुक हुसैन गिलानी (एड-हॉक न्यायाधीश)पाकिस्तान
नवाज़ सलामलेबनॉन
यूजी इवसावाजापान

FAQ

अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश कौन है? ?

अब्दुलकावी अहमद यूसुफ (अध्यक्ष)

अंतरराष्ट्रीय कोर्ट कहाँ पर है? अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय का मुख्यालय कहाँ है? इंटरनेशनल कोर्ट कहाँ है?

हेग (नीदरलैंड्स)

अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के प्रथम न्यायाधीश कौन थे?

जोस गुस्तावो गुरेरो (एल सल्वाडोर)

अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में प्रथम भारतीय न्यायाधीश कौन थे?

सर बेनेगल राव: 1952-1953

अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के न्यायाधीश का कार्यकाल कितना होता है?

नौ वर्ष

अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की स्थापना कब हुई?

अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (International Court of justice) की स्थापना 1945 में संयुक्त राष्ट्र के चार्टर द्वारा की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.