कारगिल विजय दिवस 2020 -Kargil Vijay Diwas 2020

कारगिल विजय दिवस 2020 -Kargil Vijay Diwas 2020

कारगिल विजय दिवस 2020 : मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 21वें कारगिल विजय दिवस (21st Kargil Vijay Diwas) के अवसर पर राष्ट्रीय स्तर की क्विज़ प्रतियोगिता (Quiz Competition) का आयोजन किया है |

Kargil Vijay Diwas 2020 in India
कारगिल विजय दिवस 2020

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट किया, ‘‘ छात्रों, आप कारगिल युद्ध के बारे में कितना जानते हैं? इस कारगिल विजय दिवस पर हमने अपने योद्धाओं को समर्पित राष्ट्रीय स्तर की क्विज़ प्रतियोगिता का आयोजन किया है |”

  • उन्होंने कहा कि इस प्रतियोगिता में भाग लेने की अंतिम तिथि 25 जुलाई है | 
  • मंत्री ने कहा कि प्रत्येक प्रतियोगी को एक डिजिटल प्रमाणपत्र दिया जायेगा |
  • ऐसे प्रतियोगी जो 80 प्रतिशत से अधिक अंक हासिल करेंगे, उन्हें यूजीसी के सचिव, एनसीईआरटी के निदेशक और माईजीओवी (My Gov) के सीईओ द्वारा हस्ताक्षरित मेधा प्रमाणपत्र दिया जायेगा | 
  • भारत 26 जुलाई 2020 को 21वां कारगिल विजय दिवस (Kargil Vijay Diwas) मना रहा है | 

राष्ट्रीय स्तर की क्विज़ प्रतियोगिता

  • छात्रों में देश भक्ति की भावना को बढ़ावा देने के लिये भारत सरकार ने इस विषय पर राष्ट्रीय स्तर की क्विज़ प्रतियोगिता का आयोजन किया है | 
  • इस क्विज़ प्रतियोगिता में प्रश्न पूरी तरह से कारगिल संषर्घ के बारे में जानकारी एवं समझ का मूल्यांकन करने पर आधारित है |
  • यह प्रतियोगिता वस्तुनिष्ठ विकल्पों पर आधारित है | 
    • इसमें 60 सेकेंड में 6 प्रश्नों के उत्तर देने हैं | 
    • प्रतियोगी को केवल एक बार क्विज़ में हिस्सा लेने की अनुमति होगी | 
    • इसमें गलत उत्तर देने पर कोई नेगेटिव अंक नहीं दिया जायेगा | 
  • इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिये छात्र माईजीओवीडाटइन पर पंजीकरण करा सकते हैं|
  • इस क्विज़ प्रतियोगिता के संबंध में एनसीईआरटी का फैसला अंतिम होगा | 

कारगिल युद्ध

कारगिल विजय दिवस 2020
कारगिल विजय दिवस 2020
  • 1998-99 में सदियों के दौरान पाकिस्तान ने गुपचुप तरीके से सियाचिन ग्लेशियर की फ़तह के इरादे से अपनी फौजें भेजनी शुरू कर दी।
  • जब भारत द्वारा इसके बारे में पूछा गया तो पाकिस्तान ने कहा की यह उनकी फ़ौज नहीं बल्कि मुजाहिद्दीन हैं।
    • इसके साथ ही पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय दबाव बनाकर कश्मीर के मुद्दे को सुलझाना चाहता था।
  • सेना को जब इस बात का पता चला तो सेना ने उन्हें खदेड़ने के लिए ऑपरेशन विजय चलाया।
  • यह ऑपरेशन 8 मई 1999 को शुरू हुआ और 26 जुलाई 1999 को खत्म हुआ |
    • इसमे सेना के 527 जवान शहीद हुए और करीब 1363 जवान घायल हुए।
    • इतने बलिदानों के बाद भारतीय सेना ने कारगिल में तिरंगा फहराया था |
    • तब से हर साल 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस के तौर पर मनाया जाता है।
  • यह युद्ध आखिरकार कुल 2 महीनों बाद 26 जुलाई 1999 को ख़त्म हुआ और भारत ने विजय पायी ।
  • परमाणु बम बनाने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच हुआ यह पहला सशस्त्र संघर्ष था।
  • कैप्टन विक्रम बत्रा के साथ भारतीय सेना, मेजर जनरल इयान कार्डोज़ो ने 26 जुलाई 1999 को चौकी पर बहादुरी से लड़ाई लड़ी, जिसमें पाकिस्तान का दबदबा था।
  • इस दिन भारत के प्रधान मंत्री अमर जवान ज्योति पर सभी शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि देते हैं।

कारगिल विजय दिवस 2020 : 21 वीं वर्षगांठ

ऑपरेशन विजय की सफल परिणति की इस वर्ष 21 वीं वर्षगांठ है, जिसमें भारतीय सेना के बहादुर जवानों ने कारगिल युद्ध जीतने के लिए दुर्गम बाधाओं, दुश्मन के इलाकों, विपरीत मौसम और कठिनाइयों से पार करते हुए दुश्मन के कब्जा करने के इरादों को नाकाम कर दिया था। इस महत्वपूर्ण अवसर पर, भारतीय सेना अपने बहादुर शहीदों की याद में धूमधाम तरीके से इस जीत का जश्न मनाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.